Thursday, August 22, 2019

Best Love Shayari Hindi 2019

Best Love Shayari Hindi 2019:



Best Love Shayari Hindi 2019
Best Love Shayari Hindi 2019


Ujale apniyadonke hamare saath rahne do
Na jaane kis gali men zindagi kishaam ho jaaye...




दिल के कोने से एक आवाज़ आती है
हमें हर पल उनकी याद आती है
दिल पूछता है बार – बार हमसे
के जितना हम याद करते है उन्हें
क्या उन्हें भी हमारी याद आती है

_______________________

Click For: Birthday Shayari

Dil ke kone se awaz ati hai.
Hame har pal unki yaad ati hai
Dil puchta hai bar bar hamse
Ki jitna ham yaad krte hai unhe
Kya unhe bhi hmari yaad ati hai

_______________________

दिल में जो कुछ होता है वो कहा नही जाता, 
अब दर्द-ए-जुदाई सहा नही जाता, 
हो सके तो लौट आओ किसी बहाने से, 
अब मुझसे तुम्हारे बिन रहा नही जाता।



_______________________

किसी को टूटकर चाहने और..
 उनके डटकर इग्नोर करने के सिलसिले में हम बदनाम हो गए।
बस बेचारे के रूप में होते रहे मेरे चर्चे और..
 उनके तो सेलिब्रिटी जैसे नाम हो गए।
दिल में छुपे है आज भी कई दर्द..
 बस प्यार से बात करने से आपको एहसास नहीं होता।
सोचता हूं याद दिला दूं आपको आपकी तल्खियां..
 क्युकी अब आपसे मीठी बातें तमाम हो गए ।

_______________________

करीब रहूं या दूर जाऊँ मैं,
 बस मेरा तो यही आलम है,
 तुझे हर वक्त चाहूं मैं।

_______________________

Click For: Best Sad Shayari, Sad Quotes



मुस्कराहट का कोई मोल नहीं होता
कुछ रिश्तो का कोई तोल नहीं होता
वैसे लोग तो मिल जाते है हर मोड़ पर
पर कोई आप की तरह अनमोल नहीं होता ।

_______________________

Muskurahat Ka Koi Mol Nahi Hota
Kuch Rishto Ka Koi Tol Nahi Hota
Wese Log To Mil Jate Hai Har Mod Par
Par Koi Aap Ki Tarah Anmol Nhi Hota

_______________________

अगर खोजूँ तो कोई मुझे मिल ही जाएगा, 
लेकिन तुम्हारी तरह मुझे कौन चाहेगा।

_______________________
Aur bhi dukh hain zamane men mohabbat ke siva
Rahaten aur bhi hain vasl ki rahat ke siva




ज़िंदगी लेहर थी आप साहिल हुए
ना जाने कैसे हम आपके काबिल हुए
ना भुला पाएंगे हम उस हसीं पल को
जब आप हमारी ज़िंदगी में शामिल हुए ।

_______________________

Zindagi Leher Thi Aap Sahil Hue
Na Jane Kese Ham Apke Kabil Hue
Na Bhula Payge Ham Us Hasi Pal Ko
Jab Aap Hamari Zindagi Me Shamil Hue


_______________________

जिंदगी में कोई प्यार से प्यारा नही मिलता,
जिंदगी में कोई प्यार से प्यारा नही मिलता,
जो है पास आपके उसको सम्भाल कर रखना,
क्योंकि एक बार खोकर प्यार दोबारा नही मिलता

_______________________


है सब वहम और सपना।


Ab ke ham bichhde to shayad kabhi ḳhwabo me mile
Jis tarah sukhe hue phuul kitabon men mile.

_______________________


बहुत सुकून मिलता है जब उनसे हमारी बात होती है,
वो हजारो रातों में वो एक रात होती है,
जब निगाहें उठा कर देखते हैं वो मेरी तरफ,
तब वो ही पल मेरे लीये पूरी कायनात होती है।

_______________________

पहले आशिक़ हुआ करते थे किसी के, अब शायराना हो गए हैं।
पहले थे किसी और के अब शायरी के दीवाना हो गए है।
अब ओ पहचानते भी नहीं हम इस कदर बेगाना हो गए हैं।
रहते तो आज भी अपने पटना शहर में, 
मगर ना जाने क्यू अपने ही शहर से अनजाना हो गए हैं।

_______________________


आग लगी दिल में जब वो खफ़ा हुए,
एहसास हुआ तब, जब वो जुदा हुए,
करके वफ़ा वो हमे कुछ दे न सके,
लेकिन दे गये बहुत कुछ जब वो वेबफा हुए।




 सूरज वो जो दिन भर आसमान का साथ दे
चाँद वो जो रात भर तारों का साथ दे
प्यार वो जो ज़िंदगी भर साथ दे
और दोस्ती वो जो पल पल साथ दे |


_______________________


Surat Wo Jo Din Bhar Asman Ka Sath De
Chand Wo Jo Raat Bhar Taron Ka Sath De
Pyar Wo Jo Zindagi Bhar Sath DE
Or Dosti Wo Jo Pal Pal Sath DE

_______________________


किसी न किसी को किसी पर एतवार हो जाता है,
एक अजनबी सा चेहरा ही यार हो जाता है,
खूबियों से ही नही होती मोहब्बत सदा,
किसी की कमियों से भी कभी प्यार हो जाता है।


Ishq ne 'Ghalib' nikamma kar diya
varna ham bhi aadmi the kaam ke

_______________________

जला के जो इश्क़ की शम्मा, 
रौशन किये मुहब्बत को
बुझे हैं दिल उसी के, 
उसकी उल्फ़त में।

_______________________


ज़िंदगी में आपकी एहमियत हम आपको बता नहीं सकते
दिल में आपकी जगह हम आपको दिखा नहीं सकते
कुछ रिश्ते बोहत अनमोल होते है
इससे जयादा हम आपको समझा नहीं सकते ।

_______________________

Zindagi Me Apki ahmiyat Ham Apko Bata Nahi Sakte
Dil Me Apki Jagah Ham Apko Dikha Nahi Sakte
Kuch Rishtey Bhut Anmol Hote Hai
Isse Zyada Ham Apko Samjha Nahi Sakte


_______________________


दिल का हाल बताना नही आता,
हमे ऐसे किसी को तड़पाना नही आता,
सुनना तो चाहतें हैं हम उनकी आवाज़ को,
पर हमे कोई बात करने का बहाना नही आता।



Tumhari yaad ke jab zaḳhm bharne lagte hain
Kisi bahane tumhe yaad karne lagte hain

_______________________


सामने हो मंजिल तो कदम ना मोड़ना
जो दिल में हो वो खवाब ना तोडना
हर कदम पर मिलेगी कामयाबी आपको
सिर्फ सितारे छूने के लिए कभी जमी ना छोड़ना ।

_______________________

Samne Ho Manzil To Kadam Na Modna
Jo Dil Mai Ho Wo Khwab Na Todna
Har Kadam Par Milegi Kamyabi Apko
Sirf Sitare Chhune Ke Liye Kabhi Zami Na Chhodna


_______________________

हर कदम हर पल हम आपके साथ है,
भले ही आपसे दूर सही, लेकिन आपके पास हैं,
जिंदगी में हम कभी आपके हो या न हों,
लेकिन हमे आपकी कमी का हर पल एहसास हैं।



Ik raat vo gaya tha jahaa baat rok ke
Ab tak ruka hua hu vahi raat rok ke.

_______________________


 जाने क्यों हमें आंसू बहाना है आता
जाने क्यों हालेदिल बताना नहीं आता
क्यों साथी बिछड़ जाते है हमसे
शायद हमें ही साथ निभाना नहीं आता ।

_______________________

Jane Kyu Hame Asu Bahana Hai Ata
Jane Kyu Hale Dil Batana Nahi Ata
Kyu Sathi Bichhad Jate Hai Hamse
Shayad Hame Hi Sath Nibhana Nahi Ata


_______________________

इश्क करती हूँ तुझसे अपनी जिंदगी से ज्यादा,
मैं डरतीं हूँ मौत से नही तेरी जुदाई से ज्यादा,
चाहे तो हमे आज़मा कर देख किसी और से ज्यादा,
मेरी जिंदगी में कुछ नही तेरी आवाज़ से ज्यादा।



Ranjish hi sahi dil hi dukhane ke liye aa.
Aa phir se mujhe chhod ke jaane ke liye aa...

_______________________


ख़ामोशी इकरार से काम नहीं होती
सादगी भी सिंगार से काम नहीं होती
ये तो अपना अपना नज़रिया है मेरे दोस्त
वर्ना दोस्ती भी प्यार से काम नहीं होती ।

_______________________

Khamoshi Ikrar Se Kam Nahi Hoti
Sadgi Bhi Singaar Se Kam Nahi Hoti
Ye To Apna Apna Nazariya Hai
Warna Dosti Bhi Pyar Se Kam Nahi Hoti


_______________________

जब खामोश निगाहों से बात होती है,
तो ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है,
हमतो बस खोये ही रहतें हैं उनके ख्यालों में,
पता ही नही चलता कब दिन कब रात होती है।



Ek muddat se teri yaad bhi aayi na hame
Aur ham bhuul gaye ho tujhe aisa bhi nahi.

_______________________


एक सपने की तरह सजा कर रखु
अपने इस दिल में हमेशा छुपा कर रखु
मेरी तक़दीर मेरे साथ नहीं वर्ना
ज़िंदगी भर के लिए उसे अपना बना कर रखु ।

_______________________


Ek Sapne ki Trah Saja Kar Rakhu
Apne Is Dil Me Hamesha Chhupa Kar Rakhu
Meri Takdeer Mere Sath Nahi Verna
Zindagi Bhar Ke Liye Use Apna Bana Kar Rakhu


_______________________

हकीकत कहो तो उन्हें ख्वाब लगता है,
शिकवा करो तो उन्हें मज़ाक लगता है,
कितनी शिद्दत से हम उन्हें याद करते हैं,
और एक वो हैं जिन्हें ये सब मजाक लगता है।



Kis kis ko bataenge judai ka sabab ham
Tu mujh se ḳhafa hai to zamane ke liye aa

_______________________


मीठी मीठी यादे पलकों पे सजा लेना
एक साथ गुज़ारे पल को दिल में बसा लेना
नज़र ना आऊं हकीकत में अगर
मुस्कुरा कर मुझे सपनो में बुला लेना ।।


_______________________

Meethi Meethi Yade Palkho Pe Saja Lena
Ek Sath Gujre Pal Ko Dil Me Basa Lena
Nazar Na Au Hakikat Me Agar
Muskura Kar Mujhe Sapno Me Bula Lena

_______________________


तेरी मोहब्बत ने हमे बेनाम कर दिया,
हमे हर ख़ुशी से अंजान कर दिया,
हमने तो कभी नही चाहा था हमे मोहब्बत हो,
लेकिन उसकी पहली नज़र ने हमे नीलाम कर दिया।



Mohabbat me nahin hai farq jine aur marne ka
Usi ko dekh kar jite hai jis kafir pe dam nikle

_______________________

प्यार हम उनको करते हैं।
जो हमारी फ़िकर करते हैं।
कदर हम उनकी करते हैं।
जो हमारी इज्ज़त करतें हैं।
जीते हैं हम उनके लिए।
जो हम पर मरते हैं।

_______________________
Achchha ḳhasa baithe baithe gum ho jaata hu
Ab mai aksar mai nahi rahta tum ho jaata hu..

_______________________

तरसती नज़रो ने हर पल आपको ऐसे मागा।
जैसे हर अमावस में चांद मागा।
रूठ गया वो खुदा भी हमसे ।
जब हमने अपनी हर दुआ में आपको मागा।

_______________________
Ishq nazuk-mizaj hai behad
Aql ka bojh utha nahin sakta





Fasle aise bhi honge
ye kabhi socha na tha
Samne baitha tha mere
aur vo mera na tha
_______________________

जो प्यार का रिश्ता हम बनाते है।
उसे लोगो से क्यों छुपाते है।
क्या गुनाह है किसी को प्यार करना।
तो बचपन से हमे प्यार करना क्यों सिखाते है।
_______________________
Koi samjhe to ek baat kahu
Ishq taufiq hai gunah nahi
Ishq Shayari
Ishq Shayari

यादों की हवा ज़ख्मों की दवा बन गई।
दूरी उनकी मेरी चाहत की सज़ा बन गई।
कैसे भूलूं में उन्हें एक पल के लिए ।
उनकी याद ही मेरी जीने की वजह बन गई।
_______________________
Aate aate mera naam sa rah gaya
us ke hothon pe kuchh kaanpta rah gaya
_______________________
वख्त बदलता है जिंदगी के साथ।
ज़िन्दगी बदलती है वख्त के साथ।
वख्त नही बदलता अपनो के साथ।
बस अपने ही बदल जाते है वख्त के साथ।
_______________________
Aaj dekha hai tujh ko der ke baad
Aaj ka din guzar na jaye kahi

किसी की धड़कनों के पीछे कोई बात होती है।
हर दर्द के पीछे कोई याद होती होती है।
आपको पता हो या ना हो।
आपकी हँसी या खुशी के पीछे हमारी फ़रयाद होती है।
_______________________
Dil dhadakne ka sabab yaad aaya
Vo teri yaad thi ab yaad aaya

Dil dhadakne ka sabab Shayari
Dil dhadakne ka sabab Shayari
DIL KA BAZAR,SHAYARI
दिल के बाज़ार में दौलत नही देखी जाती।
प्यार अगर हो जाये तो सूरत नही देखी जाती।
_______________________
Ishq par zor nahi hai ye vo ātish 'Ghalib'
Ki lagaye na lage aur bujhaye na bane
_______________________
बात बात मे जो रुठ जाते हैं।
अनजाने मे उनसे हाथ छूठ जाते है।
कहते है बड़े कमजोर होते हैं प्यार के रिश्ते।
इसमे हँसते हँसते दिल टूट जाते हैं।
_______________________
Tere ishq ki intiha chahta hu
meri sadgi dekh kya chahta hu

ऐसी क्या दुआ दूं आपको जो आपके लबो पर हँसी के फूल खिलें।
बस यही दुआ है मेरी सितारों से रोशन ख़ुदा आपकी तकदीर बने।



Ik lafz-e-mohabbat ka adna ye fasana hai
Simte to dil-e-ashiq phaile to zamana hai
_______________________
रहती थी वो कुछ शर्मायी सी...
और हया था जिसका सज़दा...
पर क्या ऐसा बदला...
जिसने कर दिया उसे बेपर्दा.
_______________________
Aḳhri hichki tere zanun pe aaye
Maut bhi mai shairana chahta hu
_______________________
अपनी उल्फ़त का यकीन दिला सकते नही।
सारी ज़िन्दगी आपको भुला सकते नही।
हम ओर क्या दे आपको प्यार के सिवा।
चाँद ओर तारे तो ला सकते नही।
_______________________
Ai dost ham ne tark-e-mohabbat ke bavajud
Mahsus ki hai teri zarurat kabhi kabhi
_______________________
कुछ रिश्तों की चमक नहीं जाती
कुछ यादों की कसक नहीं जाती
कुछ दोस्तों से होता है ऐसा रिश्ता
के दूर रह कर भी उनकी महक नहीं जाती ।।
_______________________

Kuch Rishto Ki Chamak Nahi Jati.
Kuch Yadon Ki  Kasak Nahi Jati.
Kuch Dosto Se Hota Hai Esa Rishta.
Ke Dur Reh Kar Bhi Unki Mehak Nahi Jati.
_______________________

इस नजर ने उस नजर से बात करली,
रहे खामोश मगर फिर भी बात करली,
जब मोहब्बत की फ़िज़ा को खुश पाया,
तो दोनों निगाहों ने रो रो कर बरसात करली।
_______________________
Us ki yaad aayi hai sanso zara Ahista chalo
Dhadkanon se bhi ibadat me ḳhalal padta hai
_______________________

सारा जमाना ढूंढता है तुझे ,मेरी शायरी में....
उन्हें क्या मालूम,मैंने तुझे छुपा रखा है,अपनी डायरी में..
_______________________

Ab tak dil-e-ḳhush-fahm ko tujh se hai ummide
Ye aḳhiri shamen bhibujhane ke liye aa
_______________________
क्यों सताते हो हमें बेगानो की तरह
कभी तो याद करो चाहने वालों की तरह
हम में थी कोई कमी जो आपको याद ना आये
आपमें थी कुछ बात जो हम आपको भुला ना पाये ।।
_______________________

Kyu Satate Ho Hame Begano Ki tarah.
Kabhi To Yaad Karo Chahne Walo Ki Tarah.
Ham Me Thi Koi Kami Jo Apko Yaad Na Aay.
Apme Thi Kuch Baat Jo Ham Apko Bhula Na Paay
_______________________

तुझे देख कर ये जहाँ रंगीन नजर आता है,
तेरे बिना दिल को चैन कहां आता है,
तू ही है मेरे इस दिल की धड़कन,
तेरे बिना ये जहां बेकार नज़र आता है।
_______________________
aarzu hai ki tu yaha aaye
Aur phir umr bhar na jaaye kahi

Aarzu Shayari
Aarzu Shayari

मुहब्बत को जब लोग खुदा मानते है
प्यार करने वालों को क्यों बुरा मानते है
जब जमाना ही पत्थर दिल है
फिर पत्थर से लोग क्यों दुआ मांगते है

_______________________

Muhabbat Ko Jag Log Khuda Mante Hai.
Pyar Karne Walo Ko Kyu Bura Mante Hai.
Jab Zamana Hi Patthar Dil Hai.
Fir Patthar Se Log Kyu Dua Mangte Hai.
_______________________

तू तोड़ दे वो कसम जो तूने खाई है,
कभी कभी याद करने में क्या बुराई है,
तुझे याद किये बिना रहा भी तो नही जाता,
तूने दिल में जगह जो ऐसी बनाई है।
_______________________

Hosh valo ko ḳhabar kya be-ḳhudi kya chiiz hai
Ishq kiije phir samajhiye zindagi kya chiiz hai
_______________________

ये जो तीन साल से खिल रहे है
 दोस्ती के फूल उसे बस ऐसे ही खिलाए रखना ।
जान तो नहीं मांगेंगे आपसे पर गुज़ारिश है 
जान जाने तक ये दोस्ती बनाए रखना।
_______________________
Karunga kya jo mohabbat men ho gaya naakaam
Mujhe to aur koi kaam bhi nahin aata
_______________________
उसकी बेचैनी 
उसकी बातों में
नज़र आती है।
आज भी वो 
उसको रातों में
नज़र आती है।।
_______________________
Aap daulat ke tarazu men dilon ko taulen
Ham mohabbat se mohabbat ka sila dete hai
_______________________
उनको मेरी न होने की 
मुझे उनको न खोने की
उनकी यादें सजोने की 
दोनों को जिद प्यारी थी
_______________________
Tera milna ḳhushi ki baat sahi
Tujh se mil kar udaas rahta hu

ḳhushi Shayari
ḳhushi Shayari

जब पहली बर देखा आपकी मुस्कान तो..
 आप मेरी चाहत बन गई।
आपकी क्यूट सी मुस्कान मेरे दिल कि
 राहत बन गई।
खुदा खुशियो से इतना खुश कर दे 
आपको की आप हमेशा मुस्कुराती रहो।
क्युकी आपको खुश देख़ना 
अब हमारी आदत बन गई।

Muskaan Shayari
Muskaan Shayari

jab pahali bar dekhi aapaki
muskaan to..
aap meree chaahat ban gaee.
aapaki cute si muskaan mere dil ki
raahat ban gayi.
khuda khushiyo se itana khush kar de
aapako kee aap hamesha muskurati raho.
kyuki aapako khush dekhna
ab hamare aadat ban gayi
____________________
 सांसो का पिंजरा किसी दिन टूट जायेगा
ये मुसाफिर किसी राह में छूट जायेगा
अभी जिन्दा हु तो बात लिया करो ।
क्या पता कब हम से खुदा रूठ जायेगा
_______________________

Sanso Ka Pinzra Kisi Din Tut Jayga
Ye Musafir Kisi Raah Me Chhut Jayga
Abhi Zinda Hu To Baat Kar Liya Karo
Kya Pata Kab Ham Se Khuda Rooth Jayga

_______________________

इश्क सभी को जीना सीखा देता है,
वफ़ा के नाम पर मरना सीखा देता है,
इश्क नही किया तो करके देखना,
ज़ालिम हर दर्द सहना सिखा देता है।
_______________________

 इन दूरियों को जुदाई मत समझना
इन खामोशियो को नाराजगी मत समझना
हर हाल में साथ देंगे आपका
ज़िंदगी ने साथ न दिया तो बेवफाई मत समझना ।।
_______________________

In Duriyo Ko Judai Mat Samajhna.
In khamoshiyo ko Narazgi Mat Samjhna.
Har Haal Me Sath Dege Apka.
Zindagi Ne Sath Na Diya To Bewafai Mat Samjhna

_______________________

वो समझे या ना समझे मेरे जज्बात को
मुझे तो मानना पड़ेगा उनकी हर बात को
हम तो चले जायेंगे दुनिया से एक दिन
मगर देख लेना वो सोंएगे अकेले हर रात को ।
_______________________

Wo Samjhe Ya Na Samjhe Mere Jazbaat Ko.
Mujhe To Manna Padega Unki Har Baat Ko.
Ham To Chale Jayge Duniya Se Ek Din.
Magar Dekh Lena Wo Soyge Akele Har Raat Ko.
_______________________

आपकी परछाई हमारे दिल में है,
आपकी यादें हमारी आँखों में हैं,
आपको हम भुलाएं भी कैसे,
आपकी मोहब्बत हमारी सांसो में हैं।
_______________________


क्युकी अब तुम्हारी सूरत नहीं सीरत दिखती है।
बदले इतना कि अब बदली सी नियत दिखती है


0 comments:

Post a Comment